Best Whatsapp Status In Hindi

Sunday, May 17, 2020

Best 101+ Mahakal Attitude Status | Mahadev status in hindi


mahakal bhakt whatsapp status


#अनजान_हु अभी
#धीरे_धीरे#सीख़_जाऊंगा
पर #किसी_के_सामने #झुक_कर
#पहचान नहीं #बनाऊंगा ।।
#जय #श्री #महाँकाल


शिव सत्य है, शिव अनंत है,
शिव अनादि है, शिव भगवंत है,
शिव ओंकार है, शिव ब्रह्म है,
शिव शक्ति है, शिव भक्ति है,
आओ भगवान शिव का नमन करें,
उनका आशीर्वाद हम सब पर बना रहे।







ना गिन के दिया ना तोल के दिया”,
“मेरे महाकाल ने जिसे भी दिया दिल खोल के दिया”
।। ऊँ नम : शिवाय ।।






शिव की बनी रहे आप पर छाया,
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया;
मिले आपको वो सब अपनी ज़िन्दगी में,
जो कभी किसी ने भी न पाया! 



दुश्मन_बनकर_मुझसे_जीतने_चला_था_नादान..!!*
मेरे_MAHAKAL_से_मोहब्बत_कर_लेता_तो_मै_खुद_हार_जाता..!!*
जय_महाकाल..





तैरना_है_तो_समंदर_में_तैरो, #नदी_नालों_में_क्या_रखा_है,*
प्यार_करना_है_तो_MahAkal_से_करो*
इन_बेवफा_ओ_में_क्या_रखा_है !!*
जय_श्री_महाकाल​*.




 मैंने कहा : अपराधी हूं मैं,
👉🏾महाकाल ने कहा : “क्षमा कर दूँगा”
👤मैंने कहा : परेशान हूँ मैं,
👉🏾महाकाल ने कहा : “संभाल लूँगा”
👤मैने कहा : अकेला हूँ मैं
👉🏾महाकाल ने कहा : ‘साथ हूँ मैं”
👤और मैंने कहा :
“आज बहुत उदास हूँ मैं”
👉🏾महाकाल ने कहा :
“नजर उठा के तो देख,
तेरे आस पास हूँ मैं…!”



शिव सत्य है, शिव अनंत है,
शिव अनादि है, शिव भगवंत है,
शिव ओंकार है, शिव ब्रह्म है,
शिव शक्ति है, शिव भक्ति है,
आओ भगवान शिव का नमन करें,
उनका आशीर्वाद हम सब पर बना रहे।.






ना गिन के दिया ना तोल के दिया”,
“मेरे महाकाल ने जिसे भी दिया दिल खोल के दिया”
।। ऊँ नम : शिवाय ।।.





ये केसी घटा छाई हैं,
हवा में नई सुर्खी आई है,
फ़ैली है जो सुगंध हवा में ,
जरुर महादेव ने चिलम लगाई है |.



हँस_के_पी_जाओ_भांग_का_प्याला..!!*
क्या_डर_है_जब_साथ_है_अपने_त्रिशुल_वाला..!!*.





नीम का पेड कोई चन्दन से कम नही ...*
*उज्जैननगरी कोई London से कम नही ...*
*जहाँ बरस रहा है मेरे महाकाल का प्यार,*
*वो दरबार भी कोई जन्नत से कम नही ...।।



घनघोर अँधेरा ओढ़ के...
मैं जन जीवन से दूर हूँ...
श्मशान में हूँ नाचता...
मैं मृत्यु का ग़ुरूर हूँ....




चीर आया चरम में...
मार आया “मैं” को मैं...
“मैं” , “मैं” नहीं...
”मैं” भय नहीं...
*मैं शिव हूँ।*  *मैं शिव हूँ।* *मैं शिव हूँ।*


मेरे महाकाल कहते हैं कि मत सोच तेरा सपना पूरा होगा या नहीं…
क्योंकि जिसके कर्म अच्छे होते हैं उनकी तो मैं भी मदद करता हूँ…




जो सिर्फ तू है सोचता...
केवल वो मैं नहीं...
*मैं महाकाल हूँ।* *मैं महाकाल हूँ।* *मैं महाकाल हूँ।*






ये केसी घटा छाई हैं,
हवा में नई सुर्खी आई है,
फ़ैली है जो सुगंध हवा में ,
जरुर महादेव ने चिलम लगाई है |.




शिव की महिमा अपरम्पार,
शिव करते सबका उधार,
उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे,
और भोले शंकर आपके जीवन में ख़ुशी ही ख़ुशी भर दे..

तेरी चौखट पे आना मेरा काम था,
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है|
छोड़ दी किश्ती मैने तेरे नाम पर,
अब किनारे लगाना तेरा काम है....|
ज़य भोले




 ठंड_ऊनको_लगैगी_जिनके_करमो_में_दाग_है"...
हम_तो_भोलेनाथ_के_भक्त्त_है_भैया_हमारे_तो_मूंह_में_भी_आग_है...!!
हर_हर_महादेव ..!!.



 दुश्मन_बनकर_मुझसे_जीतने_चला_था_नादान..!!*
मेरे_MAHAKAL_से_मोहब्बत_कर_लेता_तो_मै_खुद_हार_जाता..!!*
जय_महाकाल..



 तैरना_है_तो_समंदर_में_तैरो, #नदी_नालों_में_क्या_रखा_है,*
प्यार_करना_है_तो_MahAkal_से_करो*
इन_बेवफा_ओ_में_क्या_रखा_है !!*
जय_श्री_महाकाल​*





 मैं कल नहीं मैं काल हूँ...
वैकुण्ठ या पाताल नहीं...
मैं मोक्ष का भी सार हूँ...     
मैं पवित्र रोष हूँ...
मैं ही तो अघोर हूँ.........





 महादेव के #दरबार में, दुनिया बदल जाती है रहमत से हाथ की,
#लकीर बदल जाती है लेता है जो भी दिल से, महादेव का नाम
एक पल में उसकी, #तकदीर बदल जाती है।।
#हर_हर_महादेव।




 #चीलम और चरस के नाम से मत कर #बदनाम ऐ दोस्त!
#महादेव को इतिहास उठा के देख ले # #महाकाल
ने जहर पिया था #गांजा चरस नहीं।।।
#जय_महांकाल ।।।..




 लोग कहते हैं किसके दम पे #उछलता है तू इतना मैंने
भी कह दिया जिनकी � चिलम के
हुक्के की दम ⚡ पर चल
रही ये �दुनिया है .उन्हीं ❤
#महाँकाल के � दम पे उछलता ये बंदा है..



#कहता है की #मौत सामने #आएगा तो मैं#डर
जाऊंगा.. .#कैलास तक#चलनेवाला #महादेव
का#दीवाना हूँ….#मौत को भी !!
#हर_हर #महादेव !!कर के #निकल #जाऊंगा ..
हर हर mahadev….



 #आँख मूंदकर देख रहा है साथ #समय के खेल रहा है
#महादेव महाएकाकी जिसके लिए जगत है #झांकी!
वही #शुन्य है वही #इकाई जिसके भीतर बसा #शिवाय!
ॐ नमः शिवाय्



 #आँख मूंदकर देख रहा है साथ #समय के खेल रहा है
#महादेव महाएकाकी जिसके लिए जगत है #झांकी!
वही #शुन्य है वही #इकाई जिसके भीतर बसा #शिवाय!
ॐ नमः शिवाय्.







#चीलम और चरस के नाम से मत कर #बदनाम ऐ दोस्त!

#महादेव को इतिहास उठा के देख ले # #महाकाल

ने जहर पिया था #गांजा चरस नहीं।।।
#जय_महांकाल ।।।


.नजर पड़ी #महादेव की #मुझ पर… तब जाकर ये

#संसार_मिला बड़े ही भाग्यशाली#शिव प्रेमी है हम

जो #महाकाल_का_प्यार_मिला #जय_श्री_महाकाल
जय महादेव







अघोर हूं मैं,अघोरी मेरा नाम
#महाकाल है आराध्य मेरे,
ओर श्मशान मेरा धाम



चल रहा हूं धूप में तो
महाकाल तेरी छाया है..!!
शरण है तेरी सच्ची
बाकी तो सब मोह माया है..!!



हथियार की जरूरत नही पडेगी साहब
बस महाकाल  बोलते ही  स्वहा
हो जायेगा!!!

जय महाकाल


आंधी तुफान से वो डरते है
जिनके मन में प्राण बसते है
जिनके मन मे #महाकाल बसते हैं
वो मौत देखकर भी हँसते है



खौफ फैला देना नाम का ,
कोई पुछे तो कह देना 
भक्त लौट आया है 

महाकाल का!


महाकाल कि महेफील में
बैठा किजिए साहब ।
बादशाहत का अंदाज़
खुद ब खुद आ जायेगा।।


गरज उठे गगन सारा,
समुन्दर छोड़ें अपना किनारा;
हिल जाए जहान सारा,
जब गूंजे  महाकाल  का नारा



आता हूँ महाकाल  दर पे तेरे,
अपना सर झुकाने को;
सौ जन्म भी कम है भोले,
एहसान तेरा चुकाने को



जब भी  मैँ अपने बुरे
हालातो से घबराता हूँ ,
तब मेरे महाकाल की
आवाज आती है,
रूक मैँ आता हूँ



लगाके  दौलत मे आग
हमने ये शौक पाला है,
कोई पुछे तो कह देना ,
ये पागल महाकाल का दीवाना है



हे महाकाल ...! मेरे गुनाहों को
माफ़ कर देना क्योंकि...
में जिस माहौल में रहेता हु
उसका नाम दुनिया हे



हम महादेव के दीवाने है!
तान के सीना चलते है!
ये महादेव का जंगल है!
यहाँ शेर महाकाल के पलते है।



मौत का डर उनको लगता है,
जिनके कर्मों में दाग है
हम तो महाकाल के भक्त हैं,
हमारे तो खुन में भी आग है



किसी ने मुझसे कहा
इतने ख़ूबसूरत नहीं हो तुम !!
मैंने कहा महाकाल के भक्त
खूंखार ही अच्छे लगते है..



लोग कहते हे क़ि मै बावली हूँ
पर वह क्या जाने मै तो
मेरे महाँकाल की लाड़ली हूँ।।



मन्दिर के बाहर खड़े भक्त से
महाकाल  कहते हैं...
बेझिझक भीतर चले आईये
"पाप" करके आप थक गये होंगे?
मगर.."माफ़" करके मैं नहीं थका.!!



महाकाल वो हस्ती है
जिससे मिलने को
दुनिया तरसती है और
हम ऊसी महफिल मे बैठते है
जहाँ  महाकाल की महफिल सजती है.



तुम उसका क्या उखाड़ोगे बे ??
वो महाकाल का भक्त है !!!
और महाकाल अपने भक्तों का
हाथ कभी नही छोड़ते !!!



लोग पूछते हैं...
कौन सी दुनिया में जीते हो,
हमने भी कह दिया
महाकाल  की भक्ति  में
दुनिया कहाँ नजर आती हैं



दौलत छोड़ी ,दुनिया छोड़ी !
सारा खज़ाना छोड़ दिया,
"महाकाल" के प्यार मे
दीवानों ने राज घराना छोड़ दिया.


जिदंगी-मे कितना-ही बडा़-मुकाम
क्यों न हासिल कर लुं
पर मै तो मेरे
महाकाल के चरणो की धुल हुँ.



तिलक करो तुम शिव नाम का तो
महाकाल  नाम की ठंडक पाओगे
पुष्प बनो जो तुम शिव चरणों का तो
बड़े सौभाग्यशाली कहलाओगे।


बाबा की तारीफ़ करूँ कैसे,
मेरे शब्दों मेँ इतना ज़ोर नहीँ,
सारी दुनिया मे जाकर ढूढ लेना,
मेरे महांकाल जैसा कोई और नही!



हैसियत मेरी छोटी है पर,
मन मेरा शिवाला है,
करम तो मै करता जाऊंगा,
क्योंकी साथ मेरे डमरूवाला है.





हम तो एक ही रिश्ता जानते हैं!
दिल वाला रिश्ता...
और दिल में तो
महाकाल  मुस्कुरा रहा है,
तोड़ सारे भ्रम दोष कृपा बरसा रहा है.



यह कलयुग है
यहाँ ताज अच्छाई को नही
बुराई को मिलता है,
लेकिन हम तो बाबा महाकाल के दीवाने है ,
ताज के नही रुद्राक्ष के दीवाने है.



मौत की गोद में सो रहे हैं
धुंए में हम खो रहे है
महाकाल की भक्ति है सबसे ऊपर
शिव शिव जपते जाग रहे है, सो रहे हैं!



माया को चाहने वाला
बिखर जाता है,
और मेरे महाकाल को चाहने वाला
निखर जाता है...!



मिलती है तेरी भक्ती
महाकाल बडे जतन के बाद,
पा ही लूँगा तुझे मे...
श्मशान मे जलने के बाद।



वह अकेले पुरी दुनिया में शव कि भस्म से नहाते हैं।
ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते हैं।

जय श्रीमहाकाल


शिव की शक्ति, शिव की भक्ति,
ख़ुशी की बहार मिले,
शिवरात्रि के पावन अवसर पर
आपको ज़िन्दगी की एक नई अच्छी शुरुवात मिले!






हम तो बाबा महाकाल के भरोसे चलते हे
ये दुनिया वाले जाने क्यों जलते हे


कभी फुर्सत मिले तो महादेव जो हमारे अपने हे
उनकी तमाम मुश्किलो को तमाम करना ।।
काल की विकराल की  त्रिलोकेश्वर महाकाल की करो
सब मिलकर वंदना मृत्युंजय महाकाल की।।




बहुत छोटा सा नाम हे हमारे बाबा का महाकाल
लेकिन इस चार अक्षर के नाम ने
जगत को दीवाना बना रखा हॆ 
जय श्री महाकाल 



मिलावट है भोलेनाथ
तेरे इश्क में इत्र और नशे की
तभी तो मैं थोडा महका हुआ
और थोडा बहका हुआ हूँ




कर्ता करे न कर सकै,
शिव करै सो होय। तीन लोक नौ खंड में,
महाकाल से बड़ा न कोय…
जय श्री महाकाल







जिनके रोम-रोम में शिव हैं
वही विष पिया करते हैं ,
जमाना उन्हें क्या जलाएगा,
जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं….
जय भोलेनाथ. 









मुझे अपने आप में कुछ यु बसा लो,
के ना रहू जुदा तुमसे,
और खुद से तुम हो जाऊ.
जय भोलेनाथ



मैँ और मैरा भोलेनाथ
दोनो ही बङे भुलक्कङ है,
वो मेरी गलतियां भूल जाते है
और मै उनकी मेहरबानियों को.



ये केसी घटा छाई हैं,
हवा में नई सुर्खी आई है,
फ़ैली है जो सुगंध हवा में ,
जरुर महादेव ने चिलम लगाई है



आग लगे उस #जवानी कों
ज़िसमे महाकाल नाम की दिवानगी न हो







शिव सत्य है, शिव अनंत है,
शिव अनादि है, शिव भगवंत है,
शिव ओंकार है, शिव ब्रह्म है,
शिव शक्ति है, शिव भक्ति है,
आओ भगवान शिव का नमन करें,
उनका आशीर्वाद हम सब पर बना रहे। 



मेरे महाकाल तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ …..
तुम साथ हो महाकाल तो में अनंत हूँ …
जय श्री त्रिकालनाथ महाकाल….






महाकाल मेरी कहानी में किरदार बहुत थे
पर तुमने तो मेरी तकदीर बदल दी ।।
ऊँ नमः शिवाय ।। 




मेरे महाकाल सास रुक जाये भले ही
तेरा इंतजार करते करते
तेरे दीदार कि आरजू .
हरगिज़ कम ना होगी.
जय श्री महाकाल  



नही पता
कौन हु मै !!
और कहा मुझे जाना है !!।
महादेव ही मेरी मँजिल !!
और महादेव का दर ही मेरा ठिकाना है !!!



रुद्राक्ष हो या इंसान..
बहुत मुश्किल से मिलते है एकमुखी ।।
ऊँ नमः शिवाय ।। 



तेरे दर पर आते आते मेरे महाकाल
जिंदगी की शाम हो गयी
और जिस दिन तेरा दर दिखा
जिंदगी ही तेरे नाम हो गयी
जय महाकाल  



वो गुरु है .
मेरा वो मित्र है .
मेरा वो साथ है
मेरा वो विश्वास है .
मेरा वो मार्गदर्शक है .
मेरा वो शासक है मेरा.
वो मेरा मैं उसकी
वो महाकाल है मेरा ।।
जय श्री महाकाल ।।



इतना ना सजा करो
मेरे महाकाल
आपको नज़र लग जायेगी
और उस मीर्चीकी क्या औकात
जो आपकी नज़र उतार पायेगी

जय श्री महाकाल  




एक अनजान सड़क का थमना
जलते चिलम का बुझना
और तुमको याद न करना
ये सब मेरे मृत्य की आहट है

महाकाल



केसे भूलू मे
महाकाल तुम्हारे नाम को
ये ही तो खजाना है
इस गरीब का.
ॐ नमः शिवाय 



शिकवे मुझे भी है जिंदगी से पर
महादेव की मौज में जीना है ।।
इसलिए शिकायत नही करती ।। 



वो लम्हा मेरी ज़िन्दगी का बड़ा अनमोल होता है
मेरे महाकाल जब तेरी बातें
तेरी यादें तेरा माहौल होता है.
जय महाकाल  




अंधे ख्वाबो को उम्मीद दे दो .
मेरे महाकाल मुझे जज़्बात पे काबू दो.
में समुन्दर भी किसी गैर के हाथों से ना लू.
एक कतरा भी समुन्दर है जो तुम दो



सारे जहा में ढूंढ लिया .
कुछ ना पाया.
महाकाल तुम्हारे नाम मे सारा जहा सिमट आया
ॐ नमःशिवाय 


दुनिया वालो को समझा दो ।।
हम महादेव के बच्चे है ।।
अगर महादेव की भक्ति पागलपन है ।।
तो हम पागल ही अछे है ।।



महाकाल हो जब इस दुनिया से मेरी विदाई
तो इतनी मोहलत मेरी सांसो को देना
एक बार ओर महाकाल केह लेने देना 



महाकाल के दीवाने हैं
इस बात का इंकार कहा
महाकाल का नाम याद ना आए तो
इस तन मे प्राण कहा
जयश्री महाकाल  



किसी ने क्या खूब कहा है
दरबार में उज्जैन के डमरू वाला बेठा है
एक दफा मांग के तो देख
दिल खोल कर वो देता है ।।
ॐ नमः शिवाय



तेरी जटाऔं का एक छोटा-सा बाल हूँ
तेरे होने से मैं बेमिसाल हूँ
तेरे होते मुझे कोई छू भी नहीं सकता,
क्योंकि मेरे महाकाल मैं तेरा लाल हूँ. 



जेसा तन दिख रहा
वेसा मन किजिये रोज़ थोड़ा महाकाल को नमन किजिये
क्या बिसात हे उस दुख की
एक बार महाकाल का नाम तो लीजिए.
जय महाकाल



दस्तक दी महाकाल ने कहा
नए सपने लाया हु खुश रहे
सदा मेरे भक्त इस लिए कलयुग में आया हू 


माना तेरा रास्ता कठिन है
महाकाल पर हम भी तेरे दीवाने है
हार कर उठना भी तूने ही सिखाया है
तेरे भक्त भी तेरी तरह मस्ताने है ।। 



जो महाकाल को दिल देते हैं
महाकाल उन्हें सब कुछ .दिल से देते हैं...!!!
जय श्री महाकाल  


एकांत रहो, शांत रहो. शिव में रहो,
शून्य रहो.. .भक्ति मे रहो, शक्ति में रहो... .
काल तुम्हारा कुछ ना करेगा,महाकाल तेरे साथ है ।।



ना नजर बुरी है… ना मुँह काला है…
अपना कोई क्या बिगाडेगा…अपने
सिर पे तो…डमरूवाला है.महाकाल



मस्तक सोहे ‪ ‎चन्द्रमा‬,
गंग ‪जटा‬ के बीच ‪श्रद्धा‬ से ‪शिवलिंग‬ को, नि
र्मल जल मन से सीच !! ‪‎
नीलकंठ‬ ‪‎महादेव‬ की जय !! 



जब भी ये शाम आती है ।।
महादेव की याद साथ में लाती है ।।
जुबा क्या धड़कन भी महाकाल महाकाल केहने लग जाती है ।। 



मौत आई थी सपने में बोली जान ले लूंगी ।।
हमने कहा जान तो महाकाल के पास हे लेले जा ।।
हर हर महादेव ।।



भस्म तो ललाट पर लगाया करते है
गले मैं मुण्ड माला सजाया करते है
भक्त है हम उनके
जो मौत का तांडव रचाया करते है ॥
जय महाकाल  




ना चाह मुझको दौलत की ,
ना शौक मुझको जन्नत का
बिन मतलबी सी इंसान हूँ ,
महादेव तेरे चरणों की धूल पे मरती हूँ ।।


काल की विकराल की त्रिलोकेश्वरमहाकाल की।
करो सब मिलकर वंदना मृत्युंजय महाकाल की।।
सुबह सुबह ले शिव का नाम ।। 



सवेरा जब हो मेरे महाकाल
करता रहू मैं तेरी जय जयकार ।। 




बहुत गुरूर हे उन्हे अपनी काबिलियत पे ।।
महादेव मगर वो ये कहा जानते हैं कि
ये काबलियत तुम्हारे दर की दी हुई भीख हे।।
हर हर महादेव ।। 


ना गिन के दिया ना तोल के दिया,
मेरे महाकाल ने जिसे भी दिया
दिल खोल के दिया



जमाने ने छोड़ दिया ए इंसान पागल बना कर
तुमने अपना लिया दीवाना बना कर जय श्री महाकाल 



नहीं हे प्यार जिंदगी से मौत को हम साथ लेकर चलते हैं
क्यु की हमारे  दिल मे महाकाल बस्ते हे । 



मेरे महाकाल कहते है...क़ि जो दिलो में शिकवे
और जुबान पर शिकायते कम रखते है।
वो लोग हर रिश्ता निभाने का दम रखते हैं। जय भोलेनाथ
जिसे मोह नही मायाजाल का वो भक्त है महाकाल का 



दरबार में महाकाल के..दुःख दर्द मिटाये जाते हैं..।।
दुनिया के सताए लोग यहाँ..सीने से लगाए जाते हैं..।।
हर हर महादेव

No comments:

Post a Comment